Posts

Showing posts from March, 2013

Cabinet's Anti rape Bill - Correcting the Misinformation

हिन्दी अनुवाद नीचे है। 
Much of the media is running a deliberate misinformation campaign against the new anti-rape Bill, and the openly anti-women organisations are the fountainhead of this campaign. Here is a quick guide to navigate the perplexed through the smokescreen of 'debates' on TV! 
(1) AGE OF CONSENT AT 16

Age of consent has NOT been 'lowered' suddenly from 18 to 16. Age of consent in India, since 1983, has BEEN 16 years. It was raised to 18 four months back by the Prevention of Child Sexual Offences Act (POCSO), and a month back by the ordinance. Remember, the Bekhauf Azadi campaignopposed the move to raise it to 18 - and the Govt has now seen sense and agreed to keep it at 16. 

Age of consent at 16 does not mean 'licence' or 'encouragement' for teen sex.

The debate is not 'is teen sex good or not' but, 'is consensual sex between teens to be defined asRAPE or not.' Because what is being drafted is a CRIMINAL law, not a moral o…

photo diary

Image
वर्मा कमेटी सरकार के गले की हड्डी बन गई है।लोग सड़क पर हैं। बिल को तकनीकी पेंच में फँसाने की कोशिशें, डर है कि कहीं देश भर की महिलाएं बार -बार सड़कों पर आना आदत न बना लें ।
   देश भर में 8 मार्च,अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को एपवा के प्रदर्शन की कुछ तस्वीरें -                                                 पटना












                                                              बनारस








कोलकाता 











रांची

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की रिपोर्ट

Image
रांची में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 
समानता और बेख़ौफ़ आज़ादी के नारों के साथ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की 103वीं वर्षगांठ पर दुनिया की तमाम संघर्षषील और आंदोलनकारी महिलाओं की शहादत को याद करते हुए रांची में ऐपवा ने रैली निकाली और सभा का आयोजन किया। रैली पार्टी कार्यालय से होते हुए एलबर्ट एक्का चैक तक पहुंची जहां वह सभा में तब्दील हो गई। ‘हमें चाहिए बेखौफ आजादी‘ ‘वर्मा आयोग की सिफारिशो को ईमानदारी से लागू करो' ‘मजदूर और घरेलू कामगारिनों की सम्मान और उचित पारिश्रमिक की गारंटी करो' ‘झारखंड में महिला नीति अविलंब बनाओ‘ ‘महिलाओं की सुरक्षा की गारंटी करनी होगी‘ ‘ बलात्कार और तेजाब हमले के खिलाफ कड़ा कानून बनाओ‘ आदि नारों और मांगो के साथ जहां रैली निकाली गई वहीं नारीवादी गीत ‘दुनिया के नक्शे पर चमका है नया सितारा, आधी जमीं हमारी आधा आसमां हमारा‘ के साथ ही सभा की शुरूआत की गई। ऐपवा राज्य सचिव सुनीता, राज्याध्यक्ष गुनी उरांव, रांची जिला सह अध्यक्ष शांति सेन, जसम झारखंड संयोजक अनिल अंशुमन ने सभा को संबोधित किया। सभा का संचालन ऐपवा रांची जिला सचिव सरोजिनी बिष्ट ने किया। जसम प्रे…